Bihar Board Class 8th Hindi Chapter 3 Karamveer | कर्मवीर | कर्मवीर की पहचान क्या है | आप अपने को कर्मवीर कैसे समर्पित कर सकते है

कर्मवीर की पहचान क्या है | Karmveer Ki Pahchan Kya Hai

उत्तर : कर्मवीर विधन बाधाओं से घबराते नहीं है वे भाग्य भरोसे नहीं रहते। कर्मवीर आज के कार्य को आज ही कर लेते है। जैसा सोचते है वैसा ही बोलते है तथा जैसा बोलते है वैसा ही करते है। कर्मवीर अपने समय को व्यर्थ नहीं जाने देते है। वे परशराम करने से जी नहीं चुराए है। कर्मवीर कठिन – से कठिन परिस्थितियों में भी कठिन कार्य कर दिखते है कर्मवीर कार्य काने में थकते नहीं है। जिस कार्य को आरम्भ करते उसे पूरा करके ही छोड़ते है। कर्मवीर उलझनों के बीच में उत्साहित दिखते है।

देश की उन्नति के लिए आप क्या – क्या किजीयेगा ?

उत्तर : अपने देश की उन्नति के लिए हम कर्मनिष्ट बनेगे। समय का महत्व देंगे। मन वचन एम कर्म तीनो से एक रहेंगे। कठिन से कठिन परिथितियों में भी नहीं घबराएंगे। जिस कार्य में हाथ डालेंगे उसे करके ही दम लगे। आलस्य कभी नहीं करेंगे और कभी भी अपने कार्य को कल के भरोसे नहीं डालेंगे।

अपने को कर्मवीर कैसे समर्पित कर सकते है। 

उत्तर : हमें अपने को कर्मवीर साबित करने के लिए कर्तव्यनिष्ठ बनाना होगा। समय का महत्व हमें देना होगा परिश्रमी बना होगा तथा आलस्य को तपाना होगा। मन वचन एंम कर्म से एक रहना होगा। उपरोक्त कर्मवीर गुणों को अपने में उतारकर हम अपने को कर्मवीर साबित कर सकते है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *